Dulha Dulhan Ke Liye Dua

Sayyedina ‘Abdullah bin Umru RadiALLAHU Anhu se marawwi hai ke Rasool ALLAH ﷺ ne farmaya, “Jab tum mese koi aadmi kisi aurat se shadi kare, ya khadim kharide to uski peshani pakar kar barkat ki dua kare”. Ye Khas dulha dulhan ke liye dua hai.→ Biwi Se Humbistari Ki Dua in Hindi English Urdu

Dulha Dulhan Ke Liye Khas Pahli Raat Ki Dua

allahumma inni as aluka khairaha wa khaira ma jabaltaha alaih in hindi

Ise Shab-e-Zafaaf ki dua bhi kehte hai.

Apni nayi zindagi ki shuruat yani shadi ki pahli rat ko ye dua parhkar fazilat aur barkaten payein. Apne azdwaji (shadi shudah) rishte ko jannat tak qayam rakhen.

Sayyedina ‘Abdullah bin Umru RadiALLAHU Anhu se marawwi hai ke Rasool ALLAH ﷺ ne farmaya,

“Jab tum mese koi aadmi kisi aurat se shadi kare, ya khadim kharide to uski peshani pakar kar barkat ki dua kare”.

Suhaag raat yani miyan biwi ki shadi ki pahli raat, shohar jab apni zojah se pahli bar mile. To shohar ko chahiye ke apni biwi ke maathe par apna dayan hath rakhe. Aur Hadees-e-Mubarika me batlayi gayi ye dua parhe. Phir ALLAH Tabarak Wata ‘Ala se apne is naye bandhan ko khushi aur mohabbat ke sath zindagi bhar nibhane ki dua kijiye.→ Iyyaka Na’budu Wa Iyyaka Nastaeen Ka Wazifa

Shab-e-Zafaf Ki Dua Ka Tarjuma/Translation

Ae ALLAH! Main Tujhse iski bhalayi aur jiz chiz par Tune isko paida kiya, us chiz ki bhalayi ka sawal karta hun aur main Tujhse iske shar aur us chiz ke shar se jis par Tune isay paida kiya, panah mangta hun.

ऐ अल्लाह मैं तुझसे से इसकी भलाई और जिस चीज़ पर तूने इसको पैदा किया, उस चीज़ की भलाई का सवाल करता हूँ और मैं तुझसे इसके शर्र और उस चीज़ के शर्र से जिस पर तूने उसे पैदा किया, पनाह मांगता हूँ|

O ALLAH, I ask You for the goodness within her and the goodness that You have made her inclined towards, and I seek refuge with You from the evil within her and the evil that You have made her inclined towards.→ Dua To Thank ALLAH For Blessings

Abu Dawud (2160) Ibne Maajah (1918)

अबू दावूद (2160) इब्ने माजह (1918)

Aur Jab oont khairda jaye to uski kohan pakar kar bhi isi tarah dua ki jaye.

दूल्हा दुल्हन के लिए दुआ

सय्यदिना ’अब्दुल्लाह बिन उमरू रज़िअल्लाहु ’अन्हू से मरवी है की रसूलल्लाह ﷺ ने फ़रमाया, “जब तुम में से कोई आदमी किसी औरत से शादी करे, या ख़ादिम ख़रीदे उसकी पेशानी पकड़ कर बरकत की दुआ करे।” यह ख़ास दूल्हा दुल्हन के लिए दुआ है।

दूल्हा दुल्हन के लिए ख़ास पहली रात की दुआ

अपनी नई ज़िंदगी की शुरुआत यानी शादी की पहली रात को यह दुआ पढ़कर फ़ज़ीलत और बरकतें पाएं। अपनी शादी शुदा रिश्ते को जन्नत तक क़ायम रखें।

सय्यदिना ’अब्दुल्लाह बिन उमरू रज़िअल्लाहु ’अन्हू से मरवी है की रसूलल्लाह ﷺ ने फ़रमाया:

“जब तुम में से कोई आदमी किसी औरत से शादी करे, या ख़ादिम ख़रीदे उसकी पेशानी पकड़ कर बरकत की दुआ करे।” यह ख़ास दूल्हा दुल्हन के लिए दुआ है।

सुहाग रात यानी मियां बीवी की शादी की पहली रात, शौहर जब अपनी ज़ौजह (बीवी) से पहली बार मिले। तो शौहर को चाहिए के अपने बीवी के माथे पर अपना दायां हाथ रखे। और हदीस-ए-मुबारिका में बतलाई यह गई यह दुआ पढ़े। फिर अल्लाह अल्लाह तबारक वता’आला से अपने इस नए बंधन को खुशी और मुहब्बत के साथ ज़िंदगी भर निभाने की दुआ कीजिए।

शब-ए-ज़फाफ की दुआ का तर्जुमा

ए अल्लाह! मैं तुझसे इसकी भलाई और जिस चीज़ पर तूने इसको पैदा किया, उस चीज़ की भलाई का सवाल करता हूं और मैं तुझसे इसके शर और और उस चीज़ के शर से जिस पर तूने इसे पैदा किया, पनाह मांगता हूं।

ए अल्लाह मैं तुझसे से इसकी भलाई और जिस चीज़ पर तूने इसको पैदा किया, उस चीज़ की भलाई का सवाल करता हूँ और मैं तुझसे इसके शर्र और उस चीज़ के शर्र से जिस पर तूने उसे पैदा किया, पनाह मांगता हूँ|

[अबू दावूद हदीस #2160 | इब्ने माजह हदीस #1918]

और जब ऊंट खरीदने जाएं तो उसकी कोहन पकड़ कर भी इसी तरह दुआ की जाए।

First Night Dua For Bride and Bridegroom

While starting your marital life, on your first wedding night, recite this dua to get enormous virtues and blessings. And take this pure relationship to Paradise that is forever.

It is narrated by Sayyedina ‘Abdullah bin Umru RadiALLAHU Anhu that the Messenger of ALLAH ﷺ said,

“When anyone of you marries a woman or buys a slave woman, he should hold her forelock and pray for the blessings.”

On the first night of marriage, after meeting the wife for the first time. The husband should place his right hand over the forehead of his wife. And recite the dua (see above wallpaper) for a newly married couple that has been told through Hadith. Must Read→ How to Ask ALLAH For Something You Really Want?

Afterward, make a prayer to ALLAH The Bestower to carry this new married relationship with full joy, happiness and a fragrance of endless affection and love.

And if anyone of you buys a camel then he should hold its hump and pray for the blessing by reciting the same words.

Join ya ALLAH Community!

Subscribe YouTube Channel→ yaALLAH Website Official

Instagram par Follow Kijiye instagram.com/yaALLAH.in

12 Comments

  1. Shuhar ko apne dono hatho se biwi ki peshani pakadni hai ya phir sirf right hand se hi?

  2. Mje aik masla pochna hai lakin aap say kis tarah bat ho skti hai

  3. Assalamualequm meri sarkari daftar me naukri thi par kisi wajah se meri naukri chhoot gaie h mujhe koi esa wazifa bataen jisse meri wahi naukri wapas mil jaye shukriya

Apne sawal yahan puchiye!