Blood Pressure Ka Wazifa

November 26th, 2021

Blood Pressure ka wazifa bahot asan hai aur take bina dawa ko ALLAH apko iske zariye shifa dede. Kyonke aj is qadar ye marz aam ho gaya aur aam taur par har shakhs ko kisi na kisi wajah se ye ho hi jata hai.

Blood Pressure Ka Wazifa-Fauran Rahat!

Meri ek bat par zarur ghar kijiyega. Agar kisi ko high blood pressure ka marz aam taur par rahne laga hai. To aise mein wo is marz ko halke mein na lein.

See here→ Dua to Cure Blood Pressure

Kyonke ye marz phit dhire-dhire dusre amraaz (beemariyon) ko paida karta hai. Aur gurde ke kam karne mein khalal paida karta hai. Aur phir ek waqt ata hai ke insan ke gurde hi kharab ho jate hai.

Iski rozana aur bar-bar dawa lena bhi durust nahi. Lekin bas ye khayal rakhein ke jis bhi wajah se kisi ka blood pressure badta hai to us wajah aur usi beemari ko door karein.

Na ke hamesha dawa se bp ko thik karne ki hamesha sochein. Zarur dekhiye→ Dua For Gas Relief

Must read→ Blood Pressure Medication Treatment

Blood Pressure Yani BP Hone Ki Aam Wajuhaat (wajah)

BP low ya high dono hi rahna khatarnak aur janlewa sabit ho sakta hai. Inki aam wajah niche di gayi hai.

  1. Zyada tension lena ya zyada sochna.
  2. Raat ko waqt par nahi sona ya bilkul na sona jiski wajah se haemoglobin banna kam ya band bhi ho jata hai.
  3. Ghar mein kisi ko ye khandani beemari hone ke wajah se.
  4. Diabeted jise sugar bhi kahte hai iski wajah se bhi ho sakta hai.
  5. Dil ki beemari ki wajah se.

High ya Low Blood Pressure Ka Wazifa #1

Blood Pressure Ka Wazifa

Agar kisi ko high ya low blood pressure hone lage to is dua ko yani is amal ko fauran parhna shuru kar de. Insha ALLAH blood pressure normal ho jayega.

ALLAH Ta’ala ka pyara naam-e-mubarak ye asma-e-bari ta’ala:

ya ‘Haleemu

Bada Burdbar Aur Bardasht Karne Wala

Inhe 80 martaba parhe aur khud par dam kar le. Ye wuzu mein parhe to zyada bahtar hoga. Koi majburi ho to bila wuzu ke bhi parh sakte hai. Iske ilawa ALLAH Pak ke is naam-e-mubarak ko har namaz ke baad bhi 80 martaba parhne ka mamool banaye.

Aur phir dua bhi kare.

Aur kam se 40 roz parhe to Insha ALLAH is beemari se hamesha ke liye nijat hasil hogi.

High ya Low Blood Pressure Ka Wazifa #2

Surah Ale-‘Imran ki ayat #134

وَالْكَاظِمِينَ الْغَيْظَ وَالْعَافِينَ عَنِ النَّاسِ ۗ وَاللَّهُ يُحِبُّ الْمُحْسِنِينَ

walkaazimeena-l-ghayza wal-‘aafeena ‘ani-nnasi w-ALLAHu yuhibbu-l-muhsineena

Aur Logon Ko Maaf Karne Wale Hai Aur ALLAH Neki Karne Walon Ko Dost Rakhta Hai

वल क़ाज़ी-मीनल ग़ैयज़ा वल ‘आफ़ीना अनिन्नासी वल्लाहु युहिब्बुल मुह्सिनीना 

और लोगों को माफ़ करने वाले है और अल्लाह नेकी करने वालों को दोस्त रखता है

Quran-e-pak ki is ayat-e-mubarika ko jab bhi blood pressure low ya high ki shikayat ho to 101 martaba parhkar pani par dam kar khud pee lijiye. Ya mariz ko pila dijiye. Dekhiye →Ghutno Me Dard Ki Dua

Insha ALLAH usi waqt bp ke marz se shifa naseeb hogi. Ameen!

Dua For High Blood Pressure Roman English Mein

High blood pressure ko hypertension bhi kaha jata hai. Humare jism mein jab khoon ka dabaw shiryon ke deewar par bohot zyada badh jata hai, is halaat ko high blood pressure kehte hai. High blood pressure ko, humara dil jo khoon ko pump karta hai aur humara khoon shiryon mein kitni tezi se behta hai in dono baato se muqarrar kiya jata hai.

High blood pressure hone ke kayi wajuhat (wajah) ho sakte hain.

Konsi Cheezen Hain Jo High Blood Pressure Hone Ke Wajuhat Hain?

High blood pressure waqt ke sath badhta hai. Yani dheere dheere ye marz insan ko hona shuru hota hai.

  1. Humare khane peene ki ghalat adato ke wajah se;
  2. Warzish (kasrat) na karne ke wajah se;
  3. Motapa hone ke wajah se;
  4. Fikr mein mubtila rehne ke wajah se;
  5. Khandani bimari ho sakti hai;
  6. Kuchh marz ke wajah se jaise ke agar kisi ko sugar jise diabetes kehte hain ya phir dil ki bimari ho to aise insan ko ye marz ho sakta hai.

High blood pressure koi aam bimari nahi is bimari se hume dil ki bimari jaise heart attack ya phir gurde ki bimari bhi ho sakti hai. Aur ek dafa high blood pressure ho jaye ye doosri bimariyon ko dawat deta hai. Zarur dekhiye→ Khoon Ki Kami Ka Ilaj Aur Ka Wazifa

Jiska nateeja yeh hota hai ke ek high blood pressure (hypertension) ke mareez ko dil ki bimari ya phir gurde ki bimari ya stroke ki bimari bhi ho jati hai.

Jaise ki upar bataya gaya hai. Isliye high blood pressure ke mareez ke liye bohot zaroori hai ke wo ek achhi khaan-paan le aur sath mein warzish (kasrat) kare. Aur achhi neend le aur is bimari ka ilaaj karwaye.

High Blood Pressure Ke Ilaaj Ke Kuchh Gharelu Nuskhe

High Blood Pressure Ka Ilaaj #1

High blood pressure ke marz se shifa ke liye rozana do (2) seb khayen. Ye high blood pressure ko kam karne mein madadgar sabit hoga Insha ALLAH.

High Blood Pressure Ka Ilaaj #2

Lemu (Nimbu)

Lemu mein ek khasiyat hoti hai jo kamzor dil ko majbooti deta hai. Rozana lemu lene pe he humare rag (nas) mein narmi aati hai. Ek (1) glass pani mein lemu ka ras nichod kar peene pe high blood pressure ke mareez ko shifa naseeb hogi. Aisa dinbhar mein karne pe rahat hoti hai.

High Blood Pressure Ka Ilaaj #3

Santare

Do (2) santare rozana khane pe blood pressure ke marz se rahat hogi. Nihaar munh (khali pet) santare ka juice peene pe ye bohot fayedahmand sabit hoga. Santare mein pottasium hota hai jo humare jism mein sodium level ko normal rakhne mein madad karta hai. Sodium jo ki high blood pressure hone ki wajuhat hai. Zarur dekhiye→ Har Bimari Se Shifa Ki Dua

High Blood Pressure Ka Ilaaj Islam Mein

ALLAH Ta’ala ne hume Qur’an se nawaza hai aur hum jante hain ke Quran mein har marz ka ilaaj hai. La-ilaaj bimari bhi Qur’an ki ayato se theek ki ja sakti hai.

ALLAH Subhanahu Wa Ta’ala Qur’an mein kehte hain:

“Qura’n momin ke liye hidayat aur shifa hai.”

[Surah Fussilat | ayat #41 ka ek hissa]

High ya Low Blood Pressure Ka Wazifa #3

High Blood Pressure Ke Ilaaj Ke Liye Ye Dua Mufeed Hai.

Jo shakhs bhi high blood pressure ke marz mein mubtila hai unhe chahiye ke is dua ko teen (3) martaba padhke pani pe dam karke piyen. Jab bhi pani piyen is ayat ko dam karlen. Poore din mein kayi baar is amal ko dohraye.Zarur dekhiye→ Sar Dard Ki Dua

يَا حَيُّ قَبْلَ كُلِّ شَيْءٍ يَا حَيُّ بَعْدَ كُلِّ شَيْءٍ

“ya ‘Hayyu Qabla Kulli Shay-in ya ‘Hayyu Ba’da Kulli Shay-in.”

ALLAH Rabbul ‘Alameen ke fazal-o-karam se is dua ke padhne wale ko shifa hasil hogi agar khuloos aur aqeedat se padhi jaye to Insha ALLAH.

Agar apko post pasand aye to apno se share zarur kijiyega.

ब्लड प्रेशर का वज़ीफ़ा

ब्लड प्रेशर का वज़ीफ़ा बहुत आसान है और ताकि बिना दवा के अल्लाह आपको इसके ज़रिए शिफ़ा दे दे। क्योंकि आज इस क़दर यह मर्ज़ आम हो गया और आम तौर पर किसी ना किसी वजह से यह हो ही जाता है।

ब्लड प्रेशर का वज़ीफ़ा-फ़ौरन राहत!

मेरी एक बात पर ज़रूर ग़ौर कीजिएगा। अगर किसी को हाई ब्लड प्रेशर का मर्ज़ आम तौर पर रहने लगा है। तो ऐसे में वो इस मर्ज़ को हल्के में न लें।

क्यों की यह मर्ज़ फिर धीरे-धीरे दूसरे अमराज़ (बीमारियों) को पैदा करता है। और गुर्दे के काम करने में ख़लल पैदा करता है। और फिर एक वक़्त आता है की इंसान के गुर्दे ही ख़राब हो जाते हैं।

इसकी रोज़ाना बार बार दवाई लेना भी दुरुस्त नहीं। लेकिन बस यह ख़्याल रखें के जिस भी वजह से किसी का ब्लड प्रेशर बढ़ता है तो उस वजह और उसी बीमारी को दूर करें।ज़रूर देखिए→ मुसाफिर की दुआ

हमेशा दवाई के ज़रिये बीपी (BP) का इलाज करने की कोशिश न करें।

ब्लड प्रेशर यानी की बीपी होने की आम वजह

ब्लड प्रेशर लो या हाई दोनो रहना एक इंसान के लिए ख़तरनाक और जानलेवा साबित हो सकता है। इनकी आम वजह नीचे दी गई है।

  1. ज़्यादा टेंशन लेना या ज़्यादा सोचना।
  2. रात को वक़्त पर न सोना या बिल्कुल न सोना जिसकी वजह से हीमोग्लोबिन (ख़ून) बनना काम या बंद भी हो जाता है।
  3. घर में किसी को यह ख़ानदानी बीमारी होने के वजह से।
  4. डायबटीज जिसे शुगर भी कहते हैं इसकी वजह से भी हो सकता है।
  5. दिल की बीमारी के वजह से।

हाई या लो ब्लड प्रेशर का वज़ीफ़ा #1

अगर किसी को हाई या लो ब्लड प्रेशर होने लगे तो इस दुआ को यानी इस अमल को फ़ौरन पढ़ना शुरू कर दें। इंशा अल्लाह ब्लड प्रेशर नॉर्मल हो जाएगा।

अल्लाह तआ’ला का प्यारा नाम-ए-मुबारक ये असमा-ए-बारी तआ’ला

या ’हलीमु

ऐ बड़े बुर्दबार और बर्दाश्त करने वाले

इन्हे अस्सी (80) मरतबा पढ़े और ख़ुद पर दम कर लें। यह वुज़ू में पढ़े तो ज़्यादा बेहतर होगा। कोई मजबूरी हो तो बिला वुज़ू के भी पढ़ सकते हैं। इसके अलावा अल्लाह पाक के इस नाम मुबारक को हर नमाज़ के बाद पढ़ने का मामूल बनाएं। ज़रूर देखिए→ सदक़ाह देने की दुआ

और फिर दुआ भी करें। और कम से कम चालीस (40) रोज़ पढ़े तो इंशा अल्लाह तो इस बीमारी से हमेशा के लिए निजात हासिल होगी।

हाई ब्लड प्रेशर का वज़ीफ़ा #2

क़ुरआन-ए-पाक की इस आयत-ए-मुबारिका को जब भी ब्लड प्रेशर लो या हाई होने लगे तो 101 मर्तबा पढ़कर पानी पर दम कर खुद पी लीजिए| या मरीज़ को पिला दीजिए|

सूरह आले-‘इमरान की आयत अदद #134

वल क़ाज़ी-मीनल ग़ैयज़ा वल ‘आफ़ीना अनिन्नासी वल्लाहु युहिब्बुल मुह्सिनीना 

और लोगों को माफ़ करने वाले है और अल्लाह नेकी करने वालों को दोस्त रखता है

दुआ फॉर हाई ब्लड प्रेशर हिंदी में

हाई ब्लड प्रेशर जिसे हाइपरटेंशन भी कहा जाता है। हाई ब्लड प्रेशर में ख़ून का दवाब शीर्यों के दीवार पे बहुत ज़्यादा होता है इस हालात को हाई ब्लड प्रेशर कहते हैं।

हाई ब्लड, इस बात से मुक़र्रर (तय) की जाती है की हमारा दिल ख़ून को पंप कर रहा है। और कितनी तेज़ी से ख़ून हमारे शीर्यों के दीवार में बह रहा है।

ब्लड प्रेशर होने के कई वजुहात (वजह) हैं।

हाई ब्लड प्रेशर होने के क्या वजुहात हैं?

  1. हमारे खाने पीने की ग़लत आदतों की वजह से;
  2. वर्ज़िश (कसरत) ना करने के वजह से;
  3. मोटापा होने के वजह से;
  4. फ़िक्र में मुब्तिला रहने के वजह से;
  5. कुछ बीमारी जैसे के दिल की बीमारी या शुगर की बीमारी के वजह से भी हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी हो सकती है।

हाई ब्लड प्रेशर (हाइपरटेंशन) हमारे हार्ट अटैक और गुर्दे की बीमारी को वजह बन सकता है।

एक बार हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी हो जाए ये दूसरी बीमारियों को पैदा करता है।
जैसे की हार्ट अटैक; हार्ट स्ट्रोक या फिर किडनी (गुर्दे) की बीमारी। जैसे के ऊपर बताया गया है।

इसलिए हाई ब्लड प्रेशर के मरीज़ के लिए बेहद ज़रूरी है की वर्जिश करे एक अच्छी नींद ले और अपना इलाज करवाएं।

कुछ घरेलू नुस्ख़े हाई ब्लड प्रेशर से शिफ़ा के लिए

  • सेब

हाई ब्लड प्रेशर से क़ुदरती तौर पर शिफ़ा के लिए रोज़ाना दो (2) सेब खाएं। ये हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में फ़ायदे मंद होगा इंशा अल्लाह।

2. हाई ब्लड प्रेशर के इलाज का घरेलू नुस्ख़े #2

  • लीमु (नींबू)

लीमु में एक ख़ासियत होती है। जो कमज़ोर दिल को मजबूती देता है।

लीमु हमारे ख़ून के रग (नस) को मुलायम बनाता है। ज़रूर देखिए→ बच्चे के बोलने का वज़ीफ़ा

एक (1) ग्लास पानी में लीमु निचोड़ कर दिनभर में पीने से हाई ब्लड प्रेशर के मर्ज़ से राहत होगी। ऐसा दिनभर में कई बार दोहराते रहें।

ब्लड प्रेशर के इलाज का घरेलू नुस्ख़ा #3

  • संतरा

रोज़ाना दो (2) संतरे हाई बीपी को कम करने में मददगार साबित होगा। संतरे का जूस अगर निहार मुंह (ख़ाली पेट) पिया जाए तो ये बहुत ज़्यादा फ़ायदेमंद होगा।

संतरे में पोटेशियम होता है जो हमारे जिस्म के सोडियम लेवल को कम करता है, जो ब्लड प्रेशर होने की एक वजह है।

हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी का इलाज इस्लाम में

अल्लाह त’आला ने हमें क़ुरआन से नवाज़ा है। और हम जानते हैं की क़ुरआन में हर बीमारी की शिफ़ा मौजूद हैं।

ला-इलाज बीमारी भी क़ुरआन की आयतों से ठीक की जा सकती हैं।

अल्लाह तआ’ला क़ुरआन में फ़रमाते हैं:

“क़ुरआन मुअ-मिन (मुमिन) के लिए हिदायत और शिफ़ा है।”

[सुरह फुस्सिलत | आयत #44 का एक हिस्सा]

हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी से शिफ़ा की दुआ कैसे पढ़नी है?

एक शख़्स जिसे हाई ब्लड प्रेशर है उन्हें चाहिए की नीचे दी गई दुआ को तीन (3) मरतबा पढ़े और पानी पर दम करके पीएं। ऐसा दिनभर में कई बार दोहराते रहें।

दुआ:

يَا حَيُّ قَبْلَ كُلِّ شَيْءٍ يَا حَيُّ بَعْدَ كُلِّ شَيْءٍ

या ’हय्यु क़बला कुल्ली शय-इन या ’हय्यु ब’अ-दा कुल्ली शय-इन

इस दुआ को अगर यक़ीन के साथ पढ़ी जाए तो इंशा अल्लाह ज़रूर शिफ़ा होगी।

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आए तो अपनों से शेयर ज़रूर कीजिएगा!

Join ya ALLAH Community!

FaceBook→ yaALLAHyaRasul

Subscribe to YouTube Channel→ yaALLAH Website Official

Instagram par Follow Kijiye instagram.com/yaALLAH.in

Apne sawal yahan puchiye!