Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat
4.98 (99.65%) 172 votes

Write Arhamar Rahimeen in arabic on any pure and cleansed paper. Dilute and mix this paper in the water and offer it to that person. Let him/her drink it. If ALLAH wills soon you will get to know that he/she has already fallen in love with you, Ameen. Now you can talk for your Nikah.

Advertisement

You can write this with zafran ink through an ink pen. This is a very powerful and easy amal to get married to your love.

Important Note:

  1. Females can perform this wazifa during the days of their menses/periods. Whereas, it is recommended that they refrain.

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat in Hindi

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#01

हिंदी ज़ुबान में 

अपनी दिली मुहब्बत में मुब्तिलाह करने का फौरी अमल 

Advertisement

ख़ालिस दिली मुहब्बत और उनसे निकाह के इरादे के लिए कोई ख़्वाहिशमन्द शख़्स हैं तो आप ये अमल कर सकते है| ये अमल हुब और तसख़ीर के लिए मुजर्रब अमल है|
इन्शा अल्लाह, आपका निकाह आपकी जायज़ मुहब्बत से ज़रूर हो जायेगा, आमीन|

अमल करने का तरीक़ा क्या है?

  1. किसी भी दिन शुरू किया जा सकता है|
  2. वुज़ू बनाकर ही इसे शुरू करें|
  3. इस्म मुबारिका ‘अर्र-रहमान’ 105 मरतबाह सुबह के वक़्त पढ़ें| चाहे फज्र की नमाज़ से फ़ारिग़ होकर भी पढ़ सकते है| या फिर उसके कुछ देर बाद भी| अगर आप
  4. हज्जुद की नमाज़ के बाद पढ़ना चाहते
  5. है तो भी कोई हर्ज नहीं है|
  6. उसी इस्म मुबारक को फिर से 101 मरतबाह शाम के वक़्त पढ़ें| चाहे असर की नमाज़ के बाद पढ़ लें या फिर मग़रिब की नमाज़ के फ़ौरन बाद भी पर सकते है|
  7. पढ़ने के बाद अपनी जायज़ हाजत के क़ुबूल होने के लिए अल्लाह अज़्ज़वजल से दु’आ कीजिये|
  8. ऐसा रोज़ाना बिला नागाह करते रहे जब तक के आपका प्यार आपको मिल न जाए|
  9. इसके इलावा किसी भी हलाल मक़सद के लिए इस इस्म मुबारक को ठीक इसी तरह सुबह शाम पढ़ा करें| और फिर खाने वाली मीठी चीज़ पर दम करें| और जिसका दिल मुसख्खिर करना हो उसे खिला दें| याद रहे मक़सद जायज़ ही हो|

इन्शा अल्लाह, मुकम्मल फायदाह मिलेगा, आमीन|

ग़ौरतलब:

  1. ख़वातीन हैज़/माहवारी के दौरान ये अमल कर सकती हैं|
  2. ये अमल बीवी अपने ख़ाविन्द के लिए भी कर सकती है|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#02

तसख़ीर-ए-क़ल्ब और मुहब्बत के लिए आसान और असरदार वज़ीफ़ा

इस निचे दी हुई सूरह मरयम की आयत अदद 96 को बा वुज़ू पढ़कर शीरनी या किसी भी मीठी चीज़ पर दम करके मेहबूब को खिलाएं| ये अमल सिर्फ एक मरतबाह कर सकते है| है अगर आप रोज़ाना खिला सकते है तो कोई हर्ज़ नहीं है|

سورة نمبر ١٩، سورة مريم – آیت نمبر ۹۶

सूरह अदद 19 सूरह मरयम आयत #96

اِنَّ الَّذِيۡنَ اٰمَنُوۡا وَعَمِلُوا الصّٰلِحٰتِ سَیَجْعَلْ لَّھُمُ الرَّحمٰنُ وَدَّا

इन्नल-लज़ीना व’आमनू व -आमिलुस-सालिहाती सयज-‘अलुल-लहुमुर्र-रहमानु वुद्दा

सूरह ‘अदद 19 सूरह मरयम आयत ‘अदद 96
बेशक जो ईमान लाये और नेक काम किये अनक़रीब रहमान इनके लिए मुहब्बत पैदा करेगा ला शुबा जो लोग ईमान लाये और उन्होंने अच्छे काम किये अल्लाह त’आला उनके लिए मुहब्बत पैदा करेगा|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#03

माशूक़ के दिल में शिद्दत से उनसियत पैदा करने का अमल

कोई शख़्स किसी से दिली और जायज़ मक़सद (सिर्फ निकाह की नियत के लिए) के लिए मुहब्बत कर बैठ गया हो| और चाहता हो के वो शख़्स भी उससे उतनी ही शिद्दत से मुहब्बत में गिरफ्तार हो जाए|. तो इस सूरत में ये अमल ‘Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat’ बेहद मुफीद है| मेहबूब की मुहब्बत पाने के लिए बड़ा ही मु’अस्सिर अमल है|

बशर्ते के आपकी मुहब्बत जाएज़ हो न के जूनून और हराम मक़सद की हो| ये अमल हराम मक़सद के लिए क़तई नहीं करें| जैसे आजकल बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड वाले रिश्ते जो है जिसकी इस्लाम में और शरी’अत में क़तई इजाज़त नहीं है| आजके इस दौर में जहाँ एक लड़का एक लड़की साथ-साथ किसी रेस्टोरेंट में या फिर के किसी कैफ़े या फिर कही घूमने फिरने में मुब्तिला रहते है| ऐसे मक़सद हराम है|

अगर कोई ऐसे कामों में मुब्तिलाह भी है तो उनसे गुज़ारिश यही होगी के इन्हे तर्क कर दें यानि छोढ़ दें और हलाल को इख़्तियार करें|

निकाह की नियत रखने वाले शख़्स की कोशिश को असर देने का ये सिर्फ एक ज़रियाह है, क़िस्मत में अल्लाह जो चाहे वो होगा, बेशक़ वो क़िस्मत बनाने और बिगाड़ने वाला बढ़ा कारसाज़ है|

मुहब्बत के इस अमल करने का तरीक़ा क्या है?

  1. सब से अव्वल वुज़ू बनाइये|
  2. फिर इस आयत मुबारिका को पढ़िए|
  3. सूरह अदद 5, अल-मायदा, आयत अदद 54
  4. युहिब्बुहुम वयुहिब्बूनहू अज़िल्लतिन ‘अलल मूमिनीना अ-‘इज़्ज़तिन अलल-काफ़िरीना
  5. वह इसको चाहते है मुसलमानो पर नर्म दिल होंगी और काफिरों पर ज़बरदस्त
  6. और शीरनी पर दम कीजिये|
  7. अब ये शीरनी अपने मेहबूब को खिला दीजिये| नाजायज़ मक़सद के लिए किसी को क़तई न खिलाएं|
  8. इन्शा अल्लाह, मेहबूब के दिल में फ़ौरन मुहब्बत पैदा हो जाएगी|

ग़ौरतलब:

  1. ख़वातीन हैज़/माहवारी के दौरान ये अमल न करें|
  2. बीवी ये अमल अपनी शादी शुदा ज़िन्दगी में मसाइल के आसानी को हल करने के लिए कर सकती है|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#04

अपनी मुहब्बत में गिरफ्तार करने के लिए बेहतरीन अमल

अगर कोई शख़्स चाहे वो लड़का हो या फिर के लड़की किसी से दिली उन्सियत (मुहब्बत) करता हो| और वो ये चाहता हो के उसे भी उससे इस क़दर उन्सियत हो जाए| उसके भी दिल में जायज़ मुहब्बत की अलामत आ जाए| इस हालत में ये ‘Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat’ अमल मुजर्रब-ओ-मुफीद साबित होगा इन्शा अल्लाह, आमीन|

शीरनी या किसी भी पाक-साफ मीठे पर निचे दी हुई ये (सूरह साद आयात 32-33) आयात कम-अज़-कम एक मरतबाह बा वुज़ू पढ़कर दम करदें| फिर उसी रोज़ माशूक़ को ख़ुलूस से खिला दें| तो असर देखते ही बनेगा इन्शा अल्लाह| फौरी तौर पर उनके क़ल्ब में जायज़ मुहब्बत का सैलाब आजायेगा| ये अमल निकाह की नियत रखने वालो को ही ये वज़ीफ़ा करना है न की हराम रिश्ते के लिए| अमल की इजाज़त लेने के लिए या अल्लाह वेबसाइट यहाँ फॉलो करें|

सूरह साद आयात 32

“इन्नी अह बब तू हुब्बल ख़ैयरी ‘अन ज़िक्री रब्बी ‘हत्ता तवारत बिल हिजाबी”

तो कहा मैंने माल की मुहब्बत को याद इलाही से ‘अज़ीज़ समझा यहाँ तक के आफताब ग़ुरूब हो गया|

सूरह साद आयात 33

“रुद्दूहा ‘अलय्या फतफ़िक़ा मसहन बिस्सूक़ी वल-अ’अ नाक़ी”

इनको मेरे पास लौटा लो पस पिंडलियों और गर्दनों पर (तलवार) फेरने लगा

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#05

तसख़ीर-ए-क़ल्ब-ए-हुब के लिए खुसूसी यल्लाह वज़ीफ़ा

हुब के लिए ये वज़ीफ़ा बोहत ही खास अहमियत का हामिल है| बोहत खास तासीर रखता है ये वज़ीफ़ा| जब भी शुरू करें, जाएज़ मुहब्बत के लिए करें| इन्शा अल्लाह, लाज़मी कामयाबी नसीब होगी| हराम रिश्ते से परहेज़ करें और उसके लिए क़तई न करें|

अमल करने का तरीक़ा क्या है?

  • किसी भी बेहतर वक़्त और किसी भी दिन ये अमल शुरू कर सकते हैं|
  • सबसे अव्वल बड़े इत्मीनान से वुज़ू बनाएं|
  • एक पाक साफ काग़ज़ और क़लम लीजिये|
  • अल्लाहु अकबर 500 मरतबाह अरबी में लिखिए|
  • बिस्मिल्लाह हिर्र-रहमान निर्र-रहीम 10 मरतबाह अरबी में लिखिए|
  • आयत-उल-कुर्सी 1 मरतबाह अरबी में लिखिए|
  • सूरह इखलास 1 मरतबाह अरबी में लिखिए|
  • म’उज़्ज़तीन (सूरह फलक और सूरह नास) दोनों 1-1 मरतबाह अरबी में लिखिए|
  • और ये दुआ 1 मरतबाह अरबी में लिखिए|

اَللّٰھُمَّ اَعْطِفْ قَلْبَ فَلَانِ ابْنِ فَلَانَۃِ اَوْ فَلَانَۃُ بِنْتِ فَلَانَۃِ عَلٰی ابْنِ فَلَانِ اَو بِنْتِ فَلَا نَۃِ

“अल्लाहुम्मा आ’अतिफ कल्बे फला निबनी फला नतिन अव फलानतू बिन्ते फलानति ‘अलब नी फलानि अव बिन्ते फलानति “

  • लिखने के बाद काग़ज़ का तावीज़ बनाइये|
  • और अपने दहने बाज़ू पर बांध लीजिये|
  • जब तक मतलूब के दिल में मुहब्बत पैदा न हो जाये, ये तावीज़ बांधे रखिये|
  • इन्शा अल्लाह, चन्द ही दिनों में मतलूब बेक़रार हो कर हाज़िर हो जायेगा|

ग़ौरतलब: ख़वातीन हैज़/माहवारी के दौरान ये अमल क़तई न करें|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#06

किसी के दिल में मुहब्बत भरी जगह बनाने का अमल/तस्खीर-ए-क़ल्ब/हुब का आजमूदा अमल

अपने प्यार के दिल में जगह बनाने के लिए ये अमल बहुत मुफीद-ओ-अक्सीर है| कामिल यक़ीन के साथ करें| फायदा लाज़मी तौर पर होगा इन्शा अल्लाह, आमीन|
हराम रिश्ते के लिए क़तई नहीं करें| सिर्फ निकाह की नियत रखने वाले ही करें|

अमल करने का तरीक़ा क्या है?

  1. किसी भी दिन और किसी भी मुनासिब वक़्त ये अमल शुरू कर सकते हैं |
  2. पहले वुज़ू कीजिये|
  3. एक पाक साफ़ छुरी पर किसी भी क़लम से या फिर ज़ाफ़रान से ये इस्म मुबारिका ‘बुद्दूहू ‘ अरबी में लिखिए|
  4. अब इस छुरी से कोई मीठी चीज़ काट कर मेहबूब को खिला दीजिये|
  5. अगर छुरी पर न लिख सके तो हलवा बना लें और उसके एक टुकड़े पर किसी भी चीज़ से ‘बुद्दूहु‘ लिख कर माशूक़ को खिला दें|
  6. इन्शा अल्लाह, मेहबूब दौड़ा चला आएगा और मुहब्बत करने लगेगा| याद रहे ये अमल सिर्फ और सिर्फ
  7. निकाह की नियत से ही करें|

हराम रिश्तों के लिए ये अमल आज़माना जायज़ नहीं है

ग़ौरतलब:

Advertisement
  1. ख़वातीन हैज़/माहवारी के दौरान ये अमल कर सकती हैं|
  2. बीवी ये अमल अपने शोहर का प्यार पाने के लिए कर सकती है|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#07

मुहब्बत से फौरी निकाह में आसानी के लिए वज़ीफ़ा/तसख़ीर-ए-क़ल्ब पैदा करें दीगर निकाह के लिए/रिश्ते की हाँ करवाने के लिए ताक़तवर वज़ीफ़ा

अगर आपको अपना बच्चों के लिए कोई ख़ास रिश्ता पसन्द हो| और आप चाहते हैं के उनका रिश्ता वही पर हो | आने वाले दिनों में अगर आप रिश्ता ले कर जाना चाहते हों और इस बात का डर हो के कहीं सामने वाले इनकार न कर दें| तो ऐसी सूरत में ये अमल मुफीद साबित होगा इन्शा अल्लाह, आमीन| इस अमल के खूब दिल से करने वाले का मक़सद कामयाब होगा| जल्द ही जिस घर में रिश्ता लेकर जाना चाहते हो, जब जायेंगे तब ज़रूर रिश्ता क़ुबूल होगा| हराम मक़सद के लिए क़तई इजाज़त नहीं है|
पसन्द की शादी के लिए भी ये अमल बेहद मुफीद साबित होगा|

अगर लड़का या लड़की ख़ुद पसन्द की शादी करना चाहते हों| दोनों में से किसी एक के या दोनों के वालिदैन राज़ी न हों तो दोनों में से कोई भी एक ये अमल कर सकता है| इन्शा अल्लाह, जिसके भी वालेदैन नाराज़ होंगे या नहीं मान रहे होंगे राज़ी हो जायेंगे|

अमल करने का तरीक़ा

  1. सब से अव्वल वुज़ू बनाइये|
  2. एक पाक साफ काग़ज़ और क़लम लीजिये|स्याही के तौर पर पानी में घुली हुई ज़ाफ़रान भी लें सकते है|या फिर कोई भी स्याही हो बशर्ते के उसमे ख़म्र (अलकोहाल) न मिला हो|
  3. दिल में अपने मक़सद की नियत रखिये|
  4. पूरी सूरह ताहा को अरबी में उस काग़ज़ पर लिखिए|
  5. अब इस काग़ज़ को हरीर के सब्ज़ कपड़े (रेशम का हरा रंग का कपड़ा) में बांध कर अपने पास रख लीजिये| इसे अपने दाहिने बाज़ू पर बांधे|
  6. फिर जहाँ निकाह के लिए रिश्ता भेजना चाहते हैं वहां रिश्ता भेजें|
  7. इन्शा अल्लाह, सामने वाले राज़ी हो जायेगे| सिर्फ रिश्ते की हाँ ही नहीं होगी बल्कि ख़ैरियत के साथ निकाह भी वहीँ पर हो जायेगा| आमीन|

ग़ौरतलब:

  1. ख़वातीन हैज़/माहवारी के दौरान ये अमल कर सकती हैं|
  2. चाहे वालिदैन चाहते हों या औलाद की पसन्द की शादी का मामला हो, दोनों ही सूरतों में पहले उस रिश्ते के लिए ‘या अल्लाह निकाह इस्तिख़ारा’ कीजिये| अगर नतीजा आपके हक़ में आता है| तो ही आप ये वज़ीफ़ा कर सकते हैं|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#08

तसख़ीर-ए-हुब का आज़मूदा वज़ीफ़ा

अगर किसी लड़की की शादी न होती हो यानि कोई रिश्ता ही न आता हो| या फिर रिश्ते आते हो लेकिन कहीं बात न बनती हो| किसी न किसी वजह से मन्सूख़ (रद्द) हो जाता हो| तो उसे बा वुज़ू सूरह ताहा पढ़ कर पानी पर डैम कर पीला दीजिये| और उस पानी से घुसल करने के लिए बोलिये| बशर्ते के पानी कहीं पाक साफ जगह पर बहा दिया जाये जहाँ गन्दगी और बे-अदबी न होती हो| इन्शा अल्लाह, जल्द ही लड़की के अचे रिश्ते आने लगेंगे और अच्छी जगह निकाह भी हो जायेगा| आमीन|

लड़की या लड़का ख़ुद भी कर सकते है|

ग़ौरतलब: ख़वातीन हैज़/माहवारी के दौरान ये अमल न करें|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#09

क़ल्ब-ए-हुब जीतने का वज़ीफ़ा/निकाह करने का इरादा कामयाब करें

दिल जीतने के लिए ये अमल बोहत ही आसान और मुजर्रब है|. बस आप का मक़सद जाएज़ होना चाहिए| जिस किसी भी इन्सान का दिल जीतना चाहते हों या जिस से आप मुहब्बत करते हों, उसके दिल में अपने लिए जगह बनाना चाहते हों, तो ये अमल कर सकते हैं|

अमल करने का आसान तरीक़ा

  1. किसी भी दिन और किसी भी बेहतर वक़्त ये अमल शुरू किया जा सकता है|
  2. सब से अव्वल वुज़ू बनाइये|
  3. एक पाक साफ हरीर (रेशम) का कपड़ा लीजिये|
  4. अब इस पर इस्म मुबारिका ‘अल-वदूदु’ 35 बार लिखिए|
  5. फिर इसे संभल के बा-हिफाज़त अपने पास रख लीजिये|
  6. ये कपड़ा जब तक अपने पास रखिये जब तक के माशूक़ के क़ल्ब में मोहब्बत न पैदा हो जाये या फिर के अमल करने वाले का किसी ख़ास जगह जहाँ वो चाहता हो
  7. काह न हो जाये|
  8. ये अमल एक बार ही करना है|
  9. मक़सद पूरा होने के बाद कपड़े को कहीं पाक साफ पानी में जैसे के तालाब या कुएं में या फिर नदी या नहर में ठंडा कर दें| बे-अदबी न हो इसका ख़ास ख्याल रखें|

इन्शा अल्लाह, लोग आप के मेहबूब हो जायेंगे| अगर अपने प्यार का दिल जीतने के लिए आप ये वज़ीफ़ा कर रहे हैं, तो उसका दिल भी बोहत आसानी से जीत पाएंगे|

ग़ौरतलब: ख़वातीन ये अमल हैज़/माहवारी में कर सकती है| मगर के बेहतर यही होगा के परहेज़ करें| मक़सद हासिल होने में शुबा है|

Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

#10

क़ल्ब-ए-माशूक़ में मुहब्बत डालने का अमल/मेहबूब निकाह करने के लिए वज़ीफ़ा

अर्र-हमर्र-रहीमीन को अरबी में किसी पाक-साफ काग़ज़ पर लिखकर पानी में घोल कर जिस इन्सान को पिलायेंगे वो आप से मुहब्बत करने लगेंगे| क़लम में ज़ाफ़रान वाली स्याही डाले|

जाएज़ मुहब्बत से निकाह की नियत वाले ही अमल करें|

ग़ौरतलब: ख़वातीन ये अमल हैज़/माहवारी में कर सकती है| मगर के बेहतर यही होगा के परहेज़ करें| मक़सद हासिल होने में शुबा है|

 

 

34 thoughts on “Free Love Spells that Work Fast Taskheer E Qalb Mohabbat Se Fauri Nikah Ke Amaliyat

  1. Asalam o alkium 🙂
    Me kise ko like krte ho WO b like krtay hai mujhe .. Hum dono shdi b krna chahty hai .. Lkin me.jis ko.like krte ho uskayy Bhai Ayr abu baht strict hai .. Unkii marzi.nahe krnay de tay.. Plxx mujhe koi aisa wazifa day jis par hum dono hmesh k.liye ek hojaye aur hum dono k shdi b hojaye. Aur hmarae life sukoon me ajayw:)

  2. Asalam o alkium
    Me apny bf ko baht like krte ho WO b baht like krtay mujhe 2 sal se relationship hai hmara .. Hum dono shadi b krna chahtay hai .. Magar meray bf k ghr walay unkay brothers aur Abu unki marzi k.khilaf shadi karwana chahty.. Plzz mere help kryae .. Mujhe aisa wazifa day jis k.waja se me ray bf k.shdi mujh se he hojaye.ayr unki b tension dour hojaye ..

  3. Aoa
    Mei ek he maqsad ky leya alag alag wazifa kr raha ho megar ab mujy pta chala ky ek tme mei ek he wazifa krtay hai to ab mei kia kro mei 3 wazifa kr raha ho kia ab mei in teno mei sa koi ek krnay lag jao ya dobra sa ek wazifa kro ya abhi jo kr raha un mei sa ek continue rakho aur baki chor do

  4. Aslam o alikum Mei ek larki sa pyar krta ho aur wo b krti hai hum 2 saal sa bt kr rahay hai hum shadi b krna chatay megar ab mujy wo kehti mny bt nahi krni mray bt krna chor do mei bot prayshan ho mera dil krta mei khud ko maar lo please meri madad kray…mujy asa lagta hai ky wo kisi aur ki wja sa mray sth asay kr rahi please mujy asa kch batay jis sa wo mujy sa pehlay ki trha bt krny lag jay aur muj sa hud contact kray qky mei msg krta wo reply nai krti

  5. Sir meri engage 4 mahine pahele tut gayi hai. Ladki pahele todne ke liye mana kar rahi thi but unke parents ne aur bhai ne use mana liya. Sir please help me. Main usi ladki se shaadi karna chahta hu. But uska contact nahi ho pa raha hai bahot koshish ki maine please help me jadli sir please.

  6. Assalamualikum bhai.. kya hum Namumkin ko mumkin bnane wala jo wajeefa h.. 834 bar pdhne wala kya uske sath koi aur wzifa kr skte for same purpose.. jaise marraige of own choice wala kr skte sath me??

  7. Assalamualaikum Bhai.iam a yaAllah.in follower.Bhai sab SE pehle bohat bohat shukriya wazifin ke liye.main ek employee hoon. Main shaadishuda hoon aur meri shaadi mein problems hain.main chahti hoon ke aap meri jaisi employees ke liye apni shaadishuda zindagi ke problems duur karne ke liye chote aur wazaif bataye kyun ke hamare liye job,ghar ke kaam,aur bachchon ke kaam karne ke baad bohat kam waqt bachta hain.meharbani karke chote,jaldi kaam karne wale wazifa batade

  8. Assalaamualaikum , may I know, if I do few wazifa at the same time( morning and at night) It will work or not? I don’t have much time to do some wazifa but do u have powerful Dua to immediate effective.

    Actually having matrimonial problem and I’m having court case on 24 Apr. If you have any power ful Dua to recommend pls do. Please make Dua for me to win the case.

    I will be appriciate if u reply as soon as u can.

  9. Assalam-0-Alikum

    is wazifa k liye apny kaha k
    Aur fir khane wali cheez par dam karein. Aur jiska dil musakkhar karne ke liye use khila dein. Yad rahe maqsad jayaz hi ho.

    lakin mai us se nai milti
    mai usy kuch b ni khela sakti

    kia ye zaroori hy ?

  10. Assalaamualaikum. Kya larron agar woh shaks ap unse nahin Milte ya phir woh kaam kar rahe hai kissi aur country mein toh main unse kaise pani ya uss khane ki cheez denge jo main ne wazifa parli?

    • Dear sis, is post mein bhi aur yaALLAH.in pe maujud pahle ki posts mein bhi already bohat se aise ‘Love Marriage Wazaif’ pesh kiye gay hain, jo ap asaani se kar sakti hai. Taahum, wo wazifa select karein jiski conditions ap puri kar sakti hon. It’s quite simple. Agar ap yaALLAH.in ki follower hain to apko ‘yaALLAH Dua Wazaif’ ki ijazat hai. Agar follower nahi hain to abhi is link se website ko subscribe kijiye phir apko sab wazaif ki ijazat mil jayegi- http://www.yaALLAH.in/2015/04/03/follow-us
      ya ALLAH Community ko join karen jahan Hazaron ki tadad mein Musalman ek dusre ki madad kar rahe hain.
      Join Now!!- https://www.facebook.com/groups/yaALLAHU
      #yaALLAHcomments

  11. Kiya mai ye amal kar sakta hu or mare pass to sirf us ladki ka photo hai to us k photo ke zariye koi wazifa ho sakta hai kiya

  12. Assalamwalekum bhai main jisse pasand karti hu unse nikah hogaya hai mera lekin mai apne k sath raheti hu 4 saal hogaye hai muj apne parents ki raja se ruksat hona hai lekin pata nai baat banti bigad jati hai ab toh saaf mana hi kar rahe hai mere parents unhe nikah ka nai pata hai muj tamashe se nai jana hai ejat se jana jaisi har ladki ki bidaai hoti waisi jana mai kya karu bohot pareshan hu bhai mai plzzzz meri madat kare plzzz

Please follow before asking..